क्लाउड गेमिंग Cloud Gaming क्या है ?

Table of Contents

इन दिनों ऑनलाइन गेम का क्रेज बच्चों के साथ-साथ यूथ के बीच भी काफी ज्यादा है। जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी एडवांस हो रही है, वैसे-वैसे सभी चीजें भी एडवांस होती जा रही हैं। इस बीच अब ऑनलाइन खेले जाने वाले गेम्स Online games भी काफी एडवांस हो गए हैं। अब नॉर्मल स्क्रीन पर खेले जाने वाले गेम्स HD, 3D में भी अवेलएबल हैं। इसके अलावा उनके ग्राफिक्स और खेलने के दौरान होने वाले अनुभव (सरल भाषा में मजा) भी काफी अच्छे होते हैं।

HD, 3D समेत हाई ग्राफिक्स में मौजूद ऑनलाइन गेम्स Online Games सभी डिवाइस में नहीं खेले जा सकते। कुछ गेम्स जहां सिर्फ मोबाइल के लिए होते हैं, वहीं कुछ गेम्स लेटेस्ट लैपटॉप और कंप्यूटर में ही खेले जा सकते हैं। ऐसे गेम्स पुराने वर्जन के लैपटॉप-कंप्यूटर और किसी भी मोबाइल में सपोर्ट नहीं करते हैं। इन सभी परेशानियों का समाधान है क्लाउड गेमिंग Cloud Gamimg। यह एक ऐसी टेक्नोलॉजी है, जिसके जरिए कोई भी हाई ग्राफिक का गेम मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर पर आसानी से खेला जा सकता है। तो आइए अब क्लाउड गेमिंग Cloud Gamimg के बारे में विस्तार से जानते हैं-

Cloud Gaming
Cloud Gaming

क्लाउड गेमिंग क्या है What is Cloud Gaming? 

क्लाउड गेमिंग को सरल भाषा में गेम स्ट्रीमिंग भी कहा जाता है। इसके जरिए आसानी से हाई लेवल ग्राफिक्स वाले गेम्स नॉर्मल PC, मोबाइल, टैबलेट या लैपटॉप पर खेले जा सकते हैं। यह वीडियो स्ट्रीमिंग की तरह होता है, जिसके जरिए आपको हाई लेवल ग्राफिक्स वाले गेम खेलने के लिए सिर्फ इंटरनेट Internet और स्क्रीन की जरूरत होती है। जिस तरह आप किसी भी मूवी को देखने के लिए वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स जैसे नेटफ्लिक्स Netflix, एमएक्स प्लेयर MX Player, यूट्यूब Youtube पर मूवी देखने के लिए सिर्फ इंटरनेट और स्क्रीन (सब्सक्रिशप्न तो चाहिए ही होगा) की जरूरत होती है। इसी तरह क्लाउड गेमिंग में हाई ग्राफिक्स वाले गेम्स खेलने के लिए सबस्क्रिप्शन की जरूरत होती है। गूगल स्टेडिआ Google stedia और प्लेस्टेशन नाउ Play station now जैसे सबस्क्रिप्शन प्लेटफॉर्म आपको क्लाउड गेमिंग जैसी सर्विसेज प्रोवाइड कराते हैं। ऐसे में आप बेहद ही कम दाम में सब्सक्रिप्शन लेकर अपने मनपसंद गेम को इंजॉय कर सकते हैं।

क्लाउड गेमिंग Cloud gaming में खेलने की खास बात यह है कि इस प्लेटफॉर्म से खेलने के दौरान आपको किसी भी तरह के एक्सपेंसिंग यानी महंगे हार्डवेयर hardware की जरूरत नहीं पड़ती है। आमतौर पर नॉर्मल गेमिंग के लिए हर साल अपने हार्डवेयर्स को अपडेट करने की जरूरत होती है, जिसके लिए कई बार भारी-भरकम रकम अदा करनी पड़ती है। यानी क्लाउड गेमिंग का एक और किफायती फायदा।

क्लाउड गेमिंग कैसे काम करता है? How do Cloud Gaming Works?

क्लाउड गेमिंग बिल्कुल वीडियो स्ट्रीमिंग की तरह काम करता है। कंप्यूटर या लैपटॉप या आपके पर्सनल किसी भी डिवाइस को ऑनलाइन सर्वर की मदद से कनेक्ट किया जाता है। कनेक्ट होने के बाद स्क्रीन पर गेम को इंटरनेट के जरिए शेयर किया जाता है। अब आप आसानी से गेम को इंजॉय कर सकते हैं।

आपको बताते चलें कि जब भी आप गेम खेलने के लिए क्लाउड गेमिंग का यूज करते हैं, तब सर्वर आपका गेम शुरू होता है। गेम खेलने के दौरान आपको सिर्फ वीडियो दिखाई देती है। जब आप अपने कंट्रोलर (Controller) को इनपुट देते हैं तो यह सर्वर के पास जाता है और अपडेट होकर स्क्रीन पर दिखता है। ऐसे में गेम खेल रहे शख्स को लगता है वह गेम अपने डिवाइस पर खेल रहा है। लेकिन, असल में यह काम सर्वर कर रहा होता है।

क्लाउड गेमिंग में डिवाइस कनेक्ट करने की कोई लिमिट नहीं होती है। क्लाउड गेमिंग में सिर्फ वीडियो दिखता है इसलिए इसमें ज्यादा पॉवर का यूज नहीं होता है। ऐसे में कोई भी शख्स आराम से इसे अपने मोबाइल में भी कनेक्ट कर सकता है। बस ध्यान रहे कि आपके पास हाई स्पीड इंटरनेट और मोबाइल में फास्ट और अच्छा प्रोसेसर हो, जिससे खेलने के दौरान बीच में गेम लेग (Lag) न हो।

क्लाउड गेमिंग Cloud Gaming के लिए किन चीजों की जरूरत होती है

  • अच्छे डिवाइस (लैपटॉप, कंप्यूटर, टैबलेट या मोबाइल)
  • हाई इंटरनेट स्पीड और अच्छा वाई-फाई कनेक्शन Wi-fi connection
  • डिवाइस के की-बोर्ड (keyboard) और माउस (mouse) या फिर अच्छा कंट्रोलर (Controller)
  • स्टेबल इंटरनेट। अगर वाई-फाई है तो उसकी स्पीड कम से कम 10 mbps होनी चाहिए

क्लाउड गेमिंग के उपयोग Uses of Cloud Gaming

क्लाउड गेमिंग उन लोगों के लिए बहुत ही अच्छी सर्विस है, जिन लोगों के पास हाई लेवल ग्राफिक्स गेम्स खेलने के लिए एक्सपेंसिव हार्डवेयर नहीं होते हैं। क्लाउड गेमिंग में पॉर्बिटल की सुविधा होती है। इसके साथ ही कोई भी शख्स बेहद ही कम दाम में आराम से हाई लेवल ग्राफिक्स वाले गेम्स खेल सकता है। हालांकि, यह बात अलग है कि क्लाउड गेमिंग और नॉर्मल गेमिंग में बहुत अंतर होता है। कुछ लोगों को क्लाउड गेमिंग से ज्यादा नॉर्मल गेमिंग में मजा आता है। तो आइए जानते हैं क्लाउड गेमिंग और नॉर्मल गेमिंग में क्या अंतर है-

क्लाउड गेमिंग cloud gaming और नॉर्मल गेमिंग normal gaming में अतंर Difference between cloud gaming and normal gaming

  • क्लाउड गेमिंग Cloud Gaming के जरिए गेम्स खेलने के दौरान किसी भी शख्स को महंगे हार्डवेयर की जरूरत नहीं पड़ती है, जबकि नॉर्मल गेमिंग Normal Gaming को इंजॉय करने के लिए महंगे हार्डवेयर चाहिए होते हैं
  • क्लाउड गेमिंग की सबसे अच्छी बात यह है कि इसके जरिए हाई एंड गेम्स को किसी भी डिवाइस यहां तक की मोबाइल में भी आसानी से खेल सकते हैं। जबकि नॉर्मल गेमिंग में कंप्यूटर वाले गेम्स आप मोबाइल में नहीं खेल सकते हैं
  • क्लाउड गेमिंग में गेम्स खेलने के लिए नॉर्मल गेमिंग के मुकाबले कम रुपए देने पड़ते हैं
  • क्लाउड गेमिंग के मुकाबले नॉर्मल गेमिंग का एक्सपीरियंस ज्यादा अच्छा होता है
  • क्लाउड गेमिंग में आपको जो गेम्स उपलब्ध कराए जाते हैं आप सिर्फ वही गेम्स खेल सकते हैं, जबकि नॉर्मल गेमिंग आप अपना मनपसंद कोई भी गेम खेल सकते हैं

क्लाउड गेमिंग के फायदे Advantages of cloud gaming

  • क्लाउड गेमिंग का यूज करने वाले शख्स को हमेशा अपडेटेड टेक्नोलॉजी Updated technology में गेम खेलने को मिलता है
  • क्लाउड गेमिंग में गेम खेलने के लिए महंगे हार्डवेयर की जरूरत नहीं होती
  • क्लाउड गेमिंग के जरिए आसानी से किसी भी डिवाइस जैसे मोबाइल, टैबलेट, लैपटॉप और कंप्यूटर में गेम खेल सकते हैं
  • यह बेहद कम दाम में आसानी से मिल जाता है
  • क्लाउड गेमिंग को हर कोई यूज कर सकता है

क्लाउड गेमिंग के नुकसान Disadvantages of cloud gaming

  • मल्टीप्लेयर गेम्स Multiplayer games जैसे  Pubg आदि गेम्स के लिए क्लाउड गेमिंग बिल्कुल भी अच्छा ऑप्शन नहीं है
  • क्लाउड गेमिंग में नॉर्मल या लोकल गेमिंग जैसा एक्सपीरियंस नहीं मिलता है
  • क्लाउड गेमिंग में गेम खेलने के लिए आपके पास हाई स्पीड इंटरनेट का होना बेहद जरूरी है
  • पिंग से जुड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है
  • अगर आपका डाटा प्लान महंगा है तो क्लाउड गेमिंग आपके लिए घाटे का सौदा साबित हो सकता है क्योंकि क्लाउड गेमिंग में गेम्स खेलने के दौरान काफी ज्यादा इंटरनेट का यूज होता है। ऐसे में महंगा इंटरनेट प्लान और फिर गेम की कॉस्ट…

मोबाइल में क्लाउड गेमिंग कैसे शुरू करें? How to start cloud gaming in mobile?

मोबाइल में क्लाउड गेमिंग शुरू करना बेहद ही आसान है। इसके लिए आपको अपने मोबाइल में The Gaming project नाम का एप इंस्टॉल करना होगा। इस एप  को इंस्टॉल करने के बाद आप कई गेम्स फ्री में अपने मोबाइल में खेल सकते हैं। ध्यान रहे कई दफा मोबाइल में क्लाउड गेमिंग के दौरान कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। आइए उन परेशानियों के बारे में जानते हैं-

  • छोटी स्क्रीन- मोबाइल में छोटी स्क्रीन होती है।  यह सभी गेम्स बड़ी स्क्रीन यानी लैपटॉप और कंप्यूटर के लिए बने होते हैं। ऐसे में मोबाइल की छोटी स्क्रीन में ऐसे गेम्स खेलने के दौरान आपको ज्यादा अच्छा एक्सपीरियंस नहीं मिलेगा
  • कंट्रोलर का नहीं होना- कंप्यूटर में गेम्स खेलने के दौरान आपके पास कंट्रोल करने के लिए की-बोर्ड और माउस होता है, जबकि मोबाइल में नहीं होता
  • Optimization से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है

क्लाउड गेमिंग सर्विसेज कौन उपलब्ध कराता है?

गेमिंग की दुनिया बहुत बड़ी है और कई सारे सर्विस प्रोवाइडर हैं, जो क्लाउड गेमिंग की सर्विस उपलब्ध कराते हैं। उनमें से कुछ खास सर्विस प्रोवाइडर के नाम हैं-Geforce Now, Shadow, Vortex, PlayStation, Xbox आदि। इनमें से कई कंपनियां महीने का सब्सक्रिप्शन देती हैं, जबकि कई कंपनियां हर घंटे के हिसाब से पैसे चार्ज करती हैं।

क्या भारत में क्लाउड गेमिंग उपलब्ध हैं? Is cloud gaming availabe in India?

इस सवाल का जवाब हां है। जी हां, भारत में भी क्लाउड गेमिंग सर्विस उपलब्ध है। अगर आप भारत में क्लाउड गेमिंग सर्विस का मजा लेना चाहते हैं तो  Gefroce Now और Vortex जैसी साइट्स विजिट कर क्लाउड गेमिंग सर्विस का इस्तेमाल कर सकते हैं। बता दें, इन कंपनियों का सर्वर भारत नहीं बल्कि अमेरिका से ऑररेट होता है। ऐसे में आपको इस सर्विस का आनंनद लेने के लिए VPN का इस्तेमाल करना होगा और USA के सर्वर से अपना डिवाइस कनेक्ट करना होगा।

हां, लेकिन अगर आप बिना VPN के क्लाउड गेमिंग का आनंनद लेना चाहते हैं तो  The Gaming Project का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह कंपनी इंडिया की है और इसके सर्वर्स आपको इंडिया में देखने को मिलते है, जिसके वजह से आपको VPN का इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा। इस कंपनी की खास बात यह भी है कि यह आपको फ्री डेमो गेम भी खेलने देती है, जिसका नाम Grip है। यह एक रेसिंग गेम है।

टॉप क्लाउड गेम सर्विस प्रोवाइडर्स TOP Cloud Game service providers

  • गूगल स्टीडअ ( Google Stedia)- यह गूगल का ही एक प्रोडक्ट है, जिसे 2019 में क्लाउड गेमिंग के लिए लॉन्च किया गया था।  इसके pro subscription के लिए हर महीने $9.99 रुपए चुकाने पड़ते हैं। इस प्लान में हर महीने दो नए गेम फ्री में खेल सकते हैं। इस प्लान में 30 नए AAA title available हैं। इसके अलावा हाल ही में प्रीमियम प्लान आया है, जिसके लिए $130 देने पर premium service की तीन महीने की सब्सक्रिप्शन मिलती है। साथ ही stedia controller और google chromecast ultra भी मिलता है। इसके जरिए आप mobile, computer या TV में आराम से गेम खेल सकते हैं।

प्ले स्टेशन नाउ (Play station Now)-इसके लिए हर महीने आपको $9.99 का सब्सक्रिप्शन लेना होगा। वहीं, अगर आप एक साथ 12 महीने का सब्सक्रिप्शन लेते हैं तो डिस्काउंट discount भी मिलता है। इसमें करीब 800  गेम्स मौजूद हैं।

  • नीवीदिया जीफोर्स नाउ (Nvidia Geforce Now)-  इसे 2019 में लॉन्च किया गया है। यहां कई गेम्स का अच्छा कलेक्शन मौजूद है। अच्छी बात यह है कि अगर आपने कोई गेम पहले से Steam या Epic games से खरीद कर रखा है तो आप उसे directly Nvidia GeForce Now मैं acsess कर सकते हैं। इसमें एक फ्री प्लान भी मौजूद है, जिसके तहत आप 1 घंटे तक आराम से फ्री में गेम खेल सकते हैं। हालांकि, आपको फ्री में गेम खेलने के लिए वेटिंग लिस्ट waiting list  में काफी इंतजार करना पड़ सकता है। ऐसे में आप कोई सब्सक्रिप्शन प्लान ले लें तो बेहतर रहेगा। Nvidia GeForce Now का premium version सिर्फ $5 प्रति माह है।
  • वोर्टेक्स (Vortex)- इस कंपनी ने नेटफ्लिक्स Netflix के प्लान को क्लाउड गेमिंग में अपनाया है। vortex में आप एक महीने के लिए $9 देकर इसकी बहुत बड़ी गेम लाइब्रेरी में से कोई सा भी गेम चुन सकते हैं और किसी भी डिवाइस में कनेक्ट कर खेल सकते हैं।

आर्टिकल के लास्ट में आपको बताते चलें कि क्लाउड गेमिंग Cloud gaming का कॉन्सेप्ट कोई नया नहीं है। यानी मार्केट में काफी पहले (कह सकते हैं कि करीब पिछले 10 साल से) क्लाउड गेमिंग की चर्चाएं हैं। हां, यह बात अलग है कि लोगों को इस बात की ज्यादा जानकारी नहीं थी, जिस कारण काफी कम लोग ही इसका फायदा उठा पाते थे। अब वायरल होती दुनिया में क्लाउड गेमिंग के बारे में भी काफी लोगों को पता है।

FAQ-

सवाल- क्लाउड गेमिंग Cloud Gaming क्या है ?

जवाब- क्लाउड गेमिंग को सरल भाषा में गेम स्ट्रीमिंग भी कहा जाता है। इसके जरिए आसानी से हाई लेवल ग्राफिक्स वाले गेम्स नॉर्मल PC, मोबाइल, टैबलेट या लैपटॉप पर खेले जा सकते हैं।

सवाल- क्लाउड गेम खेलने के लिए किस-किस चीज की जरूरत होती है?

जवाब- क्लाउड गेमिंग में हाई लेवल ग्राफिक्स वाले गेम खेलने के लिए सिर्फ हाई स्पीड इंटरनेट और स्क्रीन की जरूरत होती है।

सवाल- क्लाउड गेमिंग कैसे काम करता है?

जवाब- क्लाउड गेमिंग बिल्कुल वीडियो स्ट्रीमिंग की तरह काम करता है। कंप्यूटर या लैपटॉप या आपके पर्सनल किसी भी डिवाइस को ऑनलाइन सर्वर की मदद से कनेक्ट किया जाता है। कनेक्ट होने के बाद स्क्रीन पर गेम को इंटरनेट के जरिए शेयर किया जाता है।

सवाल- क्या क्लाउड गेमिंग के जरिए किसी भी स्क्रीन पर हाई लेवल ग्राफिक्स वाला गेम खेला जा सकता है?

जवाब- हां, क्लाउड गेमिंग के जरिए मोबाइल, लैपटॉप, टैबलेट, कंप्यूटर में हाई लेवल ग्राफिक्स वाले गेम खेले जा सकते हैं।

सवाल- क्या क्लाउड गेमिंग में डिवाइस कनेक्ट करने की कोई लिमिट तय की गई है?

जवाब- क्लाउड गेमिंग में डिवाइस कनेक्ट करने की कोई लिमिट नहीं होती है।

Previous articleफ्री में ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं How to Earn Online in 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here